SHARE
Bounce Rate Kya hai, Bounce Rate ko Kam Kaise Kare
Bounce Rate Kya hai, Bounce Rate ko Kam Kaise Kare

Bounce Rate Kya Hai, Bounce Rate ko Kam Kaise Kare

Bounce Rate Kya Hai, Bounce Rate ko Kam Kaise Kare, अगर आपका blog site या website है. Then आपने google analytics के बारे मे सुना होगा. Google analytic google कर एक free product है. जिसका use कर के हम आसानी से अपने users के बारे मे पता लगा सकते है. की किस country से कितने visitors आरहे and कितने pageviews हो रहे है. साथ ही कितना bounce rate हो रहा है. And kitne time तक visitor किस page को read कर रहा है. तो आज हम इस post मे bounce rate के बारे मे बात करेंगे की bounce rate क्या है. ये ज्यादा होने के reason and इसे कम कैसे करें ये सारी जानकारी आपको इस post पर मिल जाएगी. Bounce Rate क्या है और इसे कैसे कम करे Bounce Rate कितना पर्तिशत होना चाहिए or बाउंस रेट अधिक होने से नुकसान क्या होता,

Bounce Rate क्या है ?

Bounce rate single-page sessions कर percentage होता है. When कोई visitor आपकी site पर आते है तोह वो आपकी site पर कितने time तक रुकते है. और कितने pages को open करता है. Bounce rate इसी की average कर percentage (%) होती है. अगर आपका website कर bounce rate बहुत ही ज्यादा  है then इसका मतलब visitor’s आपकी site मे ज्यादा interested नहीं है. या हम ये कह सकते है की visitors आपके site को like नहीं करते. अगर आप कर site new है और आपके blog पर post भी कम है then bounce rate कर ज्यादा होना कोई बड़ी बात नहीं है क्यों की new site पर post कम होते है. So उसका bounce rate भी ज्यादा होता है. But अगर आप कर site old है and उस्समे बहुत सारे post भी है. Then और भी बहुत reason हो सकता है bounce rate high होने कर.

यह कुछ Reasons है जिसके वजह से Bounce Rate बढ़ता है

(1) Website की Design अच्छा ना होना

(2) Website Loading Time ज्यादा होना

(3) Single page site

(4) Low quality content और Copy Content

और भी ऐसे बहुत कारण हो सकता है जिससे आपका bounce rate high होती है . But ये 4 main reason है site के bounce rate high होने के. अगर site कर Bounce Rate 45% से 60%  भी ज्यादा है तोह ye. सोचने वाली बात है. And aapko इसे जल्दी से ठीक करने की कोसिस करनी चाहिए. अगर site कर Bounce Rate ज्यादा है then Use कम करने के लिए हमें अपने site पर कुछ changes करना होगा. जिससे आपका site का bounce rate कम हो जायेगा. तोह चलिए जानते है की क्या करना होगा bounce rate को कम करने के लिए.

Bounce Rate कम करने के Top 10 Tricks

1:- Site Design: अगर आपके site का design अच्छा ना हो. तोह visitors आपकी site को बिलकुल भी like नहीं करेंगे. Blog की अच्छी design visitors को attract करता है. अगर आपका blog design ठीक नहीं है then readers आपके blog मे interest नहीं लेंगे and तुरंत छोड़ कर चले जायेंगे. So आप first off all अपने blog को अच्छी तरह से design करें.

2:- Don’t Use Over Widget: मैंने बहुत से site पर देखा है की एक hi.widget को 3/4 place मे add किया होता है. अगर आप ऐसा करेंगे तोह visitor को सही post search करने मे परिसानी होंगी. And वो आपके site से चले जायेंगे. So आप हमेशा जितनी जरुरत के widget है उन widget को ही रखे. And बाकि widget को remove करदे और एक ही widget को बार बार use ना करें .

3:- Reduce Blog Loading Time: अगर आपके site पर ज्यादा image है और उन image का size ज्यादा है then blog का load time बढ़ता है. Blog मे image का use करें but बहुत ज्यादा नहीं. And हमेसा image की size को कम रखे जिसे आपका Blog fast loading हो .

4:- Select Correct Post Title:  Post का Title सही रखे और ऐसा रखे जिसको पड़ कर समजा जा सके की post मे क्या है. अगर आप post का title सही नहीं रखेंगे then चाहे आप जितनी भी बड़ी और अच्छी post क्यों नहीं लिखें visitors आपके title को पढ़ने के बाद अगर उन्हे समाज नहीं आये की post मे क्या है तोह वो उस post को open भी नहीं करेंगे. So आप हमेसा post का title सही रखे.

5:- Add Other Post Links : अगर आप अपने new post पर another post की link add नहीं करेंगे तोह ज्यादातर visitors दूसरी post पर नहीं जायेंगे. So आप जब भी कोई नया post लिखें तोह हमेशा उस्समे अपने पुराने (old) post का link जरूर add करें. जिससे आपके blog का page review बढ़ जायेगा और visitors भी आपके site पर बहुत time रुकेंगे.

6:- Post को visitors आसानी से read कर सके ऐसा बनाये : मतलब की when आप post को लिखते हो तोह आप अपने post को छोटे छोटे Paragraph मे लिखें ताकि visitor उसको आसानी से read कर सके. And उस post की जानकारी को समाज सके.

7:- Write Long Length Articles:  When आप किसी topic पर लिखते है तोह आप उसकी पूरी जानकारी दे ताकि visitors को full information मिल सके इसके लिए आपकी post मे कम से कम 500 to 1000 words के post लिखें.

8:- Don’t Use More Category  Or Labels:  Blog मे category हमेसा वही रखे जिस topic पर आपका blog है. अगर आप सिर्फ उसके article डालेंगे तोह जो भी जानकारी visitor’s को चाइये वो उसे आसानी से मिल जायेगा but अगर आप बेकार के labels और category का use करेंगे तोह visitor’s को जो जानकारी चाइये उसे search करने मे परिसानी होंगी and वो आपके site से चले जायेंगे.

9:- ज्यादा Ads ना लगाए: अगर आप blog मे बहुत ज्यादा ads लगाते है तोह यह readers को distract (परिसान) करता हैi. So आप Limited ads लगाए अपनी blog पर.

10:- Commenting system को use करें : When आप blog पर post लिखते हो तोह visitor’s को आपका post कैसा लगा या अगर कुछ सवाल हो उनका तोह उन को सवाल पूछ ने के लिए आपको अपने blog par.commenting system को add करना चाइये  जिससे visitors और भी time रुकेंगे आपकी site पर.

To friends अब आप समाज गए होंगे की bounce rate क्या है और इसे कम कैसे करते है. फिर भी अगर आपका कोई सवाल हो bounce rate के related तोह आप हमें comment करके जरूर बताये. साथ ही इस post को अपने friends के साथ social site पर share करना ना भूले.

Rate this post
SHARE
Previous articleBlogging Kis Topic Par Karni Chahiye 10 Most Popular Topics Ideas
Next articleWordPress Website Me Push Notification Kaise Lagaye 2019
I am Amit Kumar a BCA(Regular) degree holder and 24 year old young Entrepreneur from the city of love and passion Varanasi the heart of India.By Profession I’m a Web Designer, Computer Teacher, Google webmaster tool ,Photoshop and SEO Optimizer. I have deep knowledge and am interested in following Services, I can provide you consultancy in these subjects as well as you can hire me for any out of these services!

31 COMMENTS

  1. Sir
    Amit Kumar
    यह कुछ Reasons है जिसके वजह से Bounce Rate बढ़ता है
    No. (2) Website Loading Time ज्यादा होना
    kuch samajha nahi
    Plz Jada Hona Chahiye Ya Kam Hona Chahiye

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here